Saturday, April 25, 2009

इस चमन की अब हिफ़ाजत आपके हाथों मे है

उन शहीदों की विरासत आपके हाथों में है
इस चमन की अब हिफ़ाजत आपके हाथों में है

नाम गाँधी का कलंकित और हो पाये नहीं
देश संसद की सजावट आपके हाथों में है

आपके हाथों में है इस देश की पतवार अब
शहर भर की अब बसावट आपके हाथों में है

अब कोई जयचन्द अपना सर उठा पाये नहीं
इतिहास की हर एक लिखावट आपके हाथों में है ।।



2 comments:

  1. thoda clear kar dun , aapke haathon men kya hai?

    VOTE

    APNE VOTE KA SAHI PRAYOG KAREN.

    BEHTAREEN RACHNA K
    E LIYE BADHAI.

    ReplyDelete